LATEST ARTICLES

Gelotophobia in Hindi
हंसी और मजाक हमारे जीवन का महत्वपूर्ण अंग हैं। ये हमारे तनाव को कम करने में और जीवन को आनंदमय बनाने में मदद करते हैं। लेकिन क्या होगा जब किसी को हंसी से ही डर लगने लगे? क्या होगा अगर किसी व्यक्ति के लिए मजाक ही एक बुरा सपना बन जाये? यही स्थिति है जेलोटोफोबिया की, जिसमें व्यक्ति हंसी...
accept these hard truths for self growth
Accept These Hard Truths for Self Growth: मानव जीवन इतना आसान नहीं है, आपको हर कदम पर नयी चुनौतियों का सामना करना है और इन्हीं चुनौतियों से लड़कर आप अपने जीवन को सार्थक बनाते हैं। ये बात पता तो सबको है लेकिन कई लोग ऐसे हैं जो इस पर अमल नहीं कर पाते, न ही वे अपने कम्फर्ट जोन...
PTSD क्या होता है?
पोस्ट-ट्रॉमेटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर एक मानसिक विकार है। इसके होने के मुख्य कारण किसी भयभीत घटना को होते हुए देख लेना, किसी परिचित की मौत, हत्या या दुर्घटना का दृश्य देखना हो सकते हैं। हर व्यक्ति में पीटीएसडी की समस्या होना अनिवार्य नहीं है, यह कुछ ही लोगों को प्रभावित करता है तथा एक बीमारी के रूप में विकसित हो...
habits that could destroy your relationship
एक रिश्ता तभी अच्छे से चल सकता है जब दोनों पार्टनर उस रिश्ते से खुश हों और दोनों ही एक-दुसरे के साथ रहना पसंद करते हों, उनके बीच बेहद प्यार और केयर हो। कई बार रिलेशनशिप के शुरूआती दिनों में ऐसा लगने लगता है कि हम ही सबसे अच्छे पार्टनर्स है तथा हमारे बीच झगड़ा होने या रिश्ता टूटने...
negative thoughts that can spoil your mental health
हमारी कोई भी क्रिया या प्रतिक्रिया हमारे विचारों पर ही निर्भर करती है। यहां तक कि यह भी कहा जाता है कि "जैसे विचार हम रखते हैं वैसे ही हम बनते जाते हैं" और काफी हद तक ये सच भी है। सकारात्मक सोच हमारे जीवन में सकारात्मक प्रभाव डालती है और नकारात्मक विचार हमारे जीवन को तहस-नहस करने की...
learn something new every day
Learn Something New Everyday: जीवन में लगातार कुछ न कुछ सीखते रहना न केवल आपको बोरियत से बचाता है बल्कि जीवन को बेहतर भी बनाता है। आज के युग में कब कहाँ कोई नया ट्रेंड शुरू हो जाये या तकनीकी बदलाव आ जाए ये कोई नहीं कह सकता! अगर आप सीखना छोड़ दें तो वह आपके पतन का कारण...
subconscious mind in hindi
दिमाग शरीर का वह हिस्सा है जो लगभग सभी क्रियाएं नियंत्रित करता है। यह स्मृति रखने, कार्य करने, अनुभव करने, सोचने, और निर्णय लेने का कार्य करता है। इसकी शक्तियों के कारण ही मानव सभ्यता इतनी उन्नति कर सकी है और इस दुनिया को समझने और जीवन को अधिक सहज बनाने के तरीकों की खोज संभव हुई है। मस्तिष्क को...
toxic positivity
सकारात्मकता (पॉजिटिविटी) हमारे लिए बहुत आवश्यक है। हर विषम परिस्थिति में संयम बनाए रखना, अच्छे विचारों से स्वयं को परिस्थिति से लड़ने के लिए प्रेरित करना ही सकारात्मकता कहलाती है। लेकिन हमारे शास्त्रों में भी कहा गया है, "अति सर्वत्र वर्जयेत" यानि किसी भी चीज की अति अच्छी नहीं होती। फिर वो सकारात्मक सोचना यानि पॉजिटिविटी ही क्यों ना...